Header Ad

Post AD Top

Advertisement

पत्नी के धोखे ने इस एक्टर को बना दिया पागल, कभी था बॉलीवुड का चमकता सितारा



आज हम आपको बॉलीवुड की उस हस्ती के बारे में बताने जा रहे है जो एक समय हर किसी की पहली पसंद हुआ करता था. लेकिन वक़्त ने ऐसी करवट बदली की आज ये कोई नहीं जानता की वो जिंदा भी है या मर चुके है. आज हम बात कर रहे है ‘अर्थ’, ‘कर्ज’, ‘घर हो तो ऐसा’, ‘तेरी मेहरनबानियां’, ‘बसेरा’, ‘बुलंदी’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके राज किरण की जिनका आज जन्मदिन भी है. राज किरण का पूरा नाम राज किरण मेहतानी है।


5 फरवरी 1949 को उनका मुंबई में जन्म हुआ. एक समय था जब राज किरण हर डायरेक्टर की पहली पसंद हुआ करते थे. इनकी फिल्म का गाना ‘तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो’ जाने कितने लोगों ने गुनगुनाया होगा लेकिन अस्सी के दशक तक पर्दे पर छाया रहा.


लेकिन आज सालों से इनकी किसी ने सुध नहीं ली. साल 2011 में फिल्म ‘कर्ज’ में राज किरण के साथ काम कर चुके ऋषि कपूर जब राज किरण के भाई गोविंद मेहतानी से मिले तो पता चला कि राज पिछले दस साल से अमेरिका के अटलांटा में एक पागलखाने में भर्ती है. और इसकी चौंकाने वाली वजह भी सामने आई है.


पता चला है की राज किरण को उनकी पत्नी और बेटे ने धोखा दिया था, तब से वे डिप्रेशन में चले गए थे और अपना मानसिक संतुलन खो बैठे थे। वहीं दीप्ति नवल ने उन्हें अमेरिका में टैक्सी चलाते हुए देखा। वहीं दूसरी तरफ राजकिरण की पत्नी रूपा और बेटी ऋषिका का कहना है कि ऋषि के दावे में सच्चाई नहीं है।


ऋषिका के मुताबिक उनके पिता 9 साल से गुमशुदा हैं। उनकी तलाश पुलिस और प्राइवेट डिटेक्टिव कर रहे हैं. ऐसे में हर किसी के विरोधाभासी बयानों से ये मामला और गंभीर हो गया है. राज किरण टीवी पर आखिरी बार शेखर सुमन के सीरियल रिपोर्टर में नजर आए थे.


राज किरण जब तक फिल्मों में थे, सभी ने पूछा, स्वागत किया, लेकिन जब फिल्मों से नाता टूटा तो इंडस्ट्री के लोगों ने भी राज किरण को अपनी जिंदगी से निकाल फेंका. कई लोगों की मानें तो बेशक राज किरण ने फिल्में छोड़ दी थीं लेकिन उनके पास अच्छा-खासा पैसा था, पर डिप्रेशन और पागलपन के चलते उनका सारा पैसा खत्म हो गया।

credits: zimbio
पत्नी के धोखे ने इस एक्टर को बना दिया पागल, कभी था बॉलीवुड का चमकता सितारा पत्नी के धोखे ने इस एक्टर को बना दिया पागल, कभी था बॉलीवुड का चमकता सितारा Reviewed by bollykeeda on May 16, 2019 Rating: 5

No comments

Post AD

Post AD

Advertisement